कनखल क्षेत्र में तेजी से बढ़ता स्मेक का धंधा

हरिद्वार। 
धर्मनगरी में स्मैक तस्करी का धंधा बड़ी तेजी से बढ़ रहा हैं। कई युवा इसकी गिरफ्त में हैं। कनखल ,हरिद्वार ,ज्वालापुर में कई स्मैक तस्कर खासे सक्रिय हैं। इस स्मैक के व्यापार से पुलिस महकमा भी खासा परेशान ओर हताश नज़र आता है। स्मैक तस्करी ओर व्यापार को रोकने के लिए बनाई गई टीम भी महीने में एक या दो तस्करों को पकड़ कर इतिश्री कर लेती है। 
धर्म नगरी में नशा आज गंभीर समस्या बन गई है। इससे कई परिवार और जिंदगी बर्बाद हो रही है। खासकर युवा पीढ़ी पर इसका ज्यादा असर देखा जा रहा है। निरंतर बढ़ते नशे के प्रचलन से युवा पीढ़ी खोखली होती जा रही है। पुलिस की ओर से नशे के सौदागरों की धरपकड़ के लिए समय-समय पर अभियान तो चलाए जाते हैं। बावजूद इसके नशे का प्रचलन थम नहीं पा रहा है। कई अवैध कारोबारी पुलिस को चकमा देकर नशा बांटकर नौजवानों की जिंदगी को बर्बाद कर रहे हैं। दक्ष प्रजापति की नगरी कनखल देखने मे हरिद्वार का सबसे शांत इलाका है। लेकिन सच्चाई कुछ ओर है। कनखल, जगजीतपुर के गली मोहल्लों में इस्मेक का कारोबार पुलिस की नाक के नीचे बड़े उद्योग के रूप में पनप रहा है। एक ओर जहां कनखल में अवैध शराब, गांजा, सुल्फा, भांग का कारोबार दशकों से चला आ रहा है। वही मानव को सीधे मौत के मुंह मे ले जाने वाला स्मैक बड़ी तेजी से प्रचलन में आ गया है। क्षेत्र के सेकड़ो युवा इसकी चपेट में आ चुके है। इसकी रोकथाम व धरपकड़ के लिए पुलिस ने अभियान चलाया हुआ हैं। लेकिन स्मैक तस्कर पुुुलिस को नजर नहीं आतेे हैं जबकि स्थानीय जनताा का कहना है की हर गली मोहल्ले में स्मैक के व्यापारी अपना धंधा दिनदहाड़े चला रहे हैं।